भारत नहीं पाकिस्तानी PM का भाषण अच्छा था: आशुतोष

आशुतोष जब न्यूज़ एंकर हुआ करते थे तब सर्वे में ये पाया गया था कि उनके प्रोग्राम की वजह से उनके चैनल की TRP बुरी तरह पिट रही है, इसके चलते उनको कई बार नोटिस भी मिले और हर बार छाती पीटकर उन्होंने अपने बाल बच्चो का हवाला देते हुए अपनी नौकरी बचाए रखी | इसके चलते वो सावन का अँधा हो गए जिनको हर जगह हरा ही हरा नज़र आने लगा |

उदहारण के तौर पर कल उन्होंने अपने हवाला के पैसों से खरीदे हुए भाड़े के twiteeriyo की मदद से  देशद्रोही मानसिकता का सबूत देते हुए देश के प्रधानमंत्री के सबसे गौरवशाली मौके पर दिए हुए भाषण को बोरिंग करार दिया |

ashutosh aap

आशुतोष एक कमज़ोर और दब्बू किस्म के पिटे हुए एंकर हैं इसका पता उसी दिन चल गया था जब उनके चैनल के कई सौ कर्मचारियों को उनकी पिटी हुई एंकरशिप कि वजह से पिट चुकी TRP के चलते नोटिस दे दिया गया था | आशुतोष को पता था कि अगर वो भी बर्खास्त होने वाले लोगों के साथ विरोध दर्ज कराएँगे तो उनकी पूरी पोल खुल जायेगी और ये सामने आ जाएगा कि असली पिटे हुए एंकर वही हैं जिनके करियर की शुरुआत ही श्री कांशीराम के झन्नाटेदार थप्पड़ से हुई थी और कुछ ऊंचे तबके के लोगों ने उनको दलित विरोध के लिए पैसा देकर खरीद लिया था |

ये सही है कि कोई भी दलित भाई आशुतोष के प्रति वही भावना रखता है जैसा कि श्री कांशी राम जी रखा करते थे इसके चलते उनको ऊँचे खरीद दारो के अलावा कोई भी सुनना पसंद नहीं करता (भारत में) | हालाँकि वो पाकिस्तान में काफी प्रसिद्द हैं और पाकिस्तानी twitteriye और पाकिस्तानी फसबूकिये उनको खूब शेयर करते हैं |

वैसे सावन के हुए अंधों की भी एक सीमा होती है और उसके आगे सावन का अँधा आशुतोष बन जाता है |

डॉ यशवंत

No comments yet.

Leave a Reply