केजरीवाल के जेल जाने का असली सच

किस तरह केजरीवाल ने सबको झूठ कहा कि वो प्रशांत भूषण के कहने पर जेल चले गए थे और उसका असली सच क्या है ये जाने |

“केजरीवाल जी, अपने भाषण में आपने बेहद झूठा इलज़ाम लगाते हुए ये बताया था कि उनको निजी मुचलके के बारे में पता नहीं था और, प्रशांत जी के ही इशारे पर जेल जाने को माना था जबकि असलियत ये है कि केजरीवाल ने सबकी सहानुभूति लेने के लिए ये खुद एलान करा था कि जमानत लेने से बढ़िया तो जेल चले जाना है (सबूत नीचे है ) | जब मामला अदालत में आया था तो जज साहब ने केजरीवाल को खुद पर्सनल बांड (निजी मुचलका) लेने को कहा था और जज ने खुद ये भी समझाया था कि पर्सनल बांड क्या होता है |

हालांकि एक पूर्व इनकम टैक्स अधिकारी को ये बात किसी को समझाने की जरुरत नहीं होती मगर फिर भी केजरीवाल ने ये कहा था कि इसका उनको पता नहीं है | वैसे इस केस से एक साल पूर्व भी केजरीवाल ने निजी मुचलका लेने से मना करा था और तब भी जज साहब ने उनको इसके बारे में अच्छे से समझाया था (सबूत नीचे है)|

खैर, जब जज ने अपनी बात समझा दी थी और केजरीवाल ने प्रशांत भूषण से ये पुछा था कि  क्या जज ने जो कहा है वह सही है तो प्रशांत जी ने हामी में अपना सर हिलाकर समर्थन करा था |

फिर भी केजरीवाल, तुमने ये माना था कि पब्लिक में वाहवाही लूटने के लिए कुछ दिन जेल जाना एक अच्छा मौका है और पर्सनल बांड यानि निजी मुचलके पर भी नहीं माने और जेल गए | शांति भूषन जी और प्रशांत भूषन जी ने  स्वयं इस केस को सिर्फ तुम्हे बचाने के लिए लड़ा और तुम्हारे जेल जाने के फैसले को सही ठहराया, हालांकि ये फैलसा उनसे पूछकर नहीं लिया गया था |

असली बात जो बाकि वालंटियर नहीं जानते और न ही कभी तुमने उनको बताया वो ये है कि शांति भूषन जी और प्रशांत भूषन जी ने कई-कई घंटे जेल में तुमको ये समझाने में बिता दिए थे कि जो मेसेज बाहर जाना चाहिए था वो चले गया है और अब तुम निजी मुचलका लेकर जेल से बाहर आ जाओ |

पहले तो तुमने ये बात नहीं मानी मगर, जेल में कुछ दिन रहकर अकल ठिकाने आने के  बाद, तुमको उसी निजी मुचलका को भरकर बाहर आना ही पड़ा, इस बेवकूफाना जिद की शर्मिंदगी को छुपाने के लिए मीटिंग में तुमने अपने आप को मासूम बताकर, अपने ही रक्षक प्रशांत जी और शांति जी को ही इसका जिम्मेदार ठहरा दिया, उनको गद्दार कहकर बेईज्ज़ती करी और वालंटियर्स से कहा कि अगर तुमको निजी मुचलके के बारे में पता होता तो पहले ही कर लेते |

इस घटना से एक साल पहले भी जब शीला दीक्षित ने केजरीवाल के खिलाफ अभद्र भाषा के प्रयोग के विरुद्ध मामला दर्ज करवाया था तब भी केजरीवाल को निजी मुचलके के बारे में जज ने बताया था | निचे वाली फोटो देखें और केजरीवाल की असलियत जाने (पूरी खबर पढने हेतु, फोटो पर क्लिक करें)

kejariwal liar

नीचे क्लिक करके जाने कि कैसे झूठ का पुलिंदा था केजरीवाल का भाषण

जाने: केजरीवाल के भाषण के सबसे बड़े झूठ
No comments yet.

Leave a Reply